दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन में अब 13 लोगों की मौत, हिंसा करने वालों से निपटने के लिए पुलिस को मिला नया आदेश

न्यूज डेस्क। भारत में अमेरिकी राष्टपति डोनल्ड टंप की मौजूदगी में देश को शर्मसार करने की पूरी कोशिश की गयी है। दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्र में हिंसक प्रदर्शन में 13 लोगों मौत खबर आ रही है। वहीं दिल्ली पुलिस को हिंसा करने वालों से निपटने के लिए नया आदेश गृह मंत्रालय की ओर से जारी किया है। जानकारी के मुताबिक हिंसक प्रदर्शन करने वालों को सीधे गोली मारने के आदेश दिए गये हैं। गृह मंत्रालय ने एसएन श्रीवास्तव को वरिष्ठ विशेष आयुक्त कानून एवं व्यवस्था की हालात पर काबू पाने का जिम्मा सौंपा है। ये दोनों विशेष आयुक्त कानून एवं व्यवस्था के ऊपर रहेंगे। एस एन श्रीवास्तव अभी सीआरपीएफ में एडीजी थे। इन्हें ऑर्डर जारी होते ही तुरंत सीआरपीएफ से रिलीव भी कर दिया गया। हालात पर काबू पाने के लिए मौजपुर के पास जाफराबाद रोड पर अर्धसैनिक बल मुस्तैद है।
हिंसा को देखते हुए बोर्ड एग्जाम स्थगित
दिल्ली हिंसा को देखते हुए अग्रिम आदेश तक बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में छात्र-छात्राएं परीक्षा नहीं दे पा रहे हैं। इस पर दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड बुधवार को होने वाली बोर्ड परीक्षाओं को लेकर फैसला लेने के लिए कहा है।
कई इलाकों में धारा 144
जारी हिंसा के मुद्देनजर दिल्ली पुलिस ने बड़ा फैसला लेते हुए कुछ इलाकों में धारा-144 लगा दी है। दिल्ली पुलिस ने हिंसा पर काबू पाने के लिए कमर कस ली है। इस बाबत दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने बयान दिया है कि अफवाह फैलाने वालों को नहीं बख्शा जाएगा। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही अमूल्य पटनायक ने कहा कि हमारे पास पर्याप्त पुलिस बल है।
मुख्यमंत्री ने की शांति की अपील
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों एवं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया साथ कई नेता राजघाट पर शांति के लिए प्रार्थना की। दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा है कि इससे ज्यादा शर्म की बात कुछ और नहीं हो सकती,जो था वो भी लुट गया। ये माना जाता था कि दिल्ली सुरक्षित है लेकिन सो्मवार तो इन्होंने राजधानी भी आग के हवाले कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − nine =