लखनऊ के लोहिया संस्थान में तैयार होगा 100 बेड का कोरोना अस्पताल, एक सप्ताह लगेगा समय

लखनऊ। कोरोना संक्रमण को देखते हुए डॉक्टर राममनोहर लोहिया संस्थान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 अस्पताल बनाने की शुरुआत कर दी गई है। बता दें कि पहले इसे कोविड-दो अस्पताल बनाने की तैयारी थी, लेकिन अब इसे लेवल-तीन अस्पताल के तौर पर तैयार किया जा रहा है। वहीं संस्थान की कोरोना लैब भी बनकर तैयार हो गई है। इसके पहले राजधानी लखनऊ में एसजीपीजीआई के नये बने ट्रामा सेंटर एपेक्स को लेवल थ्री का कोविड अस्पताल बनाया जा चुका गया है। संस्थान के शहीद पथ पर स्थित मातृ शिशु रेफरल अस्पताल को कोविड 19 अस्पताल के रूप में विकसित किया जा रहा है। एक सप्ताह के अंदर यह अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा। अस्पताल के एमएस डॉ श्रीकेश सिंह ने बताया की यहां कुल 100 बेड होंगे। इनमे 40 आईसीयू वाले और 60 नॉन आईसीयू के बेड हैं। आईसीयू के 40 बेड में 20 वेंटीलेटर की व्यवस्था होगी। इनमे से 10 वेंटीलेटर बेड तैयार हो चुके हैं। अस्पताल में इंटरनेशनल प्रोटोकॉल के तहत कोरोना मरीजों का इलाज होगा। इसके लिए डब्लूएचओ के तहत सभी मानक पूरे किये गए हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर एसजीपीजीआई के एपेक्स ट्रॉमा सेंटर को कोविड अस्पताल बनाया गया है। यहां के एपेक्स ट्रामा सेंटर में 210 बेड की व्यवस्था है। यहां 80 आईसीयू और 130 नॉन आईसीयू आइसोलेशन बेड हैं। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका निरीक्षण किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − three =