संस्कृत विद्यालयों के शिक्षकों की पेंशन व ग्रेच्युटी मंजूर-डिप्टी सीएम

लखनऊ। प्रदेश के सभी जिलों के अशासकीय सहायता प्राप्त संस्कृत विद्यालयों के शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों
के पेंशन एवं ग्रेच्युटी की स्वीकृति को मंजूरी दे दी गयी है। इस बारे में जानकारी देते उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने बताया कि अशासकीय सहायता प्राप्त संस्कृत विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों (पेंशनरों) को 40 छमाही की अर्हकारी सेवा पूर्ण करने पर एक जनवरी, 2006 से पूर्ण पेंशन तथा 60 वर्ष की अधिवर्षता पर ग्रेच्युटी अनुमन्य किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की भांति ही संस्कृत विद्यालयों के शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को भी पेंशन एवं ग्रेच्युटी अनुमन्य की जाये। डॉ. शर्मा ने कहा कि वेतन समिति उत्तर प्रदेश 2008 की संस्तुतियों को स्वीकार किये जाने के बाद अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की पेंशन एवं राशिकरण की दरों का पुनरीक्षण किये जाने का प्राविधान किया गया है, किन्तु अशासकीय सहायता प्राप्त संस्कृत विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को यह लाभ अनुमन्य नहीं किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + five =