ट्रम्प का इमरान और अशरफ गनी को बंधकों को रिहा करने के लिए धन्यवाद

वाशिंगटन/इस्लामाबाद। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से अलग-अलग फोन पर बातचीत की और दो बंधकों अमेरिकी केविन किंग और ऑस्ट्रेलियाई तिमोथी वीक्स की रिहाई के लिए धन्यवाद दिया। व्हाइट हाउस ने यह जानकारी दी।
तालिबान ने इन दोनों को 2016 से ही बंधक बनाया हुआ था। मंगलवार को, केविन किंग (63) और तिमोथी वीक्स (50) को अफगानिस्तान के दक्षिणी प्रांत जाबुल में अमेरिकी सुरक्षा बलों को सौंप दिया गया। इसके बदले में अफगान सरकार ने तीन बड़े तालिबानी कैदियों को रिहा किया। रिहा किए गए हक्कानी नेटवर्क से जुड़े तालिबान के तीन सदस्य अनस हक्कानी, हाजी माली खान और हाफिज राशिद हैं। व्हाइट हाउस ने कहा कि गुरुवार को ट्रम्प ने दो अलग-अलग कॉल किए। व्हाइट हाउस ने बातचीत का ब्योरा बताते हुए कहा कि खान के साथ फोन पर बातचीत में, ट्रम्प ने दो बंधकों की रिहाई में पाकिस्तान के सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। जानकारी के मुताबिक, ट्रम्प को उम्मीद है कि यह सकारात्मक घटना अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में योगदान देगा। इसके मुताबिक, दोनों नेताओं ने अमेरिका-पाकिस्तान व्यापार संबंधों को मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता को भी दोहराया, जो इस साल एक नया रिकॉर्ड स्थापित करने के रास्ते पर है, इसके साथ ही निवेश और दोनों देशों के लोगों के बीच आपसी संबंधों पर भी बातचीत हुई। इस बीच, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान के अनुसार, खान ने राष्ट्रपति ट्रम्प को कश्मीर की मौजूदा स्थिति से भी अवगत कराया। बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति ट्रम्प की ओर से कश्मीर मामले पर निरंतर मध्यस्थता की पेशकश करने की सराहना करते हुए, प्रधानमंत्री खान ने जोर देकर कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति को कश्मीर मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान के लिए अपने प्रयासों को जारी रखना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =