अध्यात्मिक शिक्षा से गुड एंड स्मार्ट बनते हैं बच्चे

लखनऊ। सिटी मॉण्टेसरी स्कूल, गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए सीएमएस संस्थापिका-निदेशिका डा. भारती गांधी ने कहा कि सीएमएस के छात्रों को भौतिक, मानवीय एवं आध्यात्मिक शिक्षा प्रदान कर उन्हें ‘गुड एण्ड स्मार्ट’ बनाया जाता है। सीएमएस के छात्र पढ़ाई में अव्वल रहते हैं, मानवीय गुणों से परिपूर्ण होते हैं तथा सामाजिक विकास में अपना भरपूर योगदान देते हैं तथा ‘विश्व एकता सत्संग’ में आकर अपना आध्यात्मिक विकास भी करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि युद्ध का विचार सबसे पहले मनुष्य के दिमाग में आता है। अत: मनुष्य के मन में शान्ति का विचार होना चाहिए, तभी बच्चे गुड एण्ड स्मार्ट बनेंगे और यही बच्चे आगे चलकर विश्व से लड़ाईयां बन्द करवायेंगे। इससे पहले, सी.एम.एस. शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत सुमधुर भजनों से विश्व एकता सत्संग का शुभारम्भ हुआ, जिन्होंने बहुत ही सुमधुर भजन सुनाकर सम्पूर्ण वातावरण को आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया।
विश्व एकता सत्संग में आज सीएमएस आनन्द नगर कैम्पस के छात्रों ने शिक्षात्मक-आध्यात्मिक कार्यक्रमों की सुन्दर प्रस्तुति द्वारा सभी का मन मोह लिया। स्कूल प्रार्थना से कार्यक्रम की शुरूआत करके छात्रों ने ‘माई गॉड इज स्ट्राँग’ भजन सुनाया। परिवार की एकता पर प्रकाश डालते हुए लघु नाटिका प्रस्तुत किया। ‘सीड्स ऑफ वैल्यूज’ नाटिका के द्वारा यह समझाने का प्रयास किया कि मानवों में सच्चाई, दया, करुणा तथा प्रेम आदि का भाव होना अति आवश्यक है। ‘गॉड्स लव इज बिगर दैन ए बर्गर’ की सुन्दर प्रस्तुति को भी सभी ने सराहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + fourteen =